खेल मंत्रालय ने डोपिंग को आपराधिक अपराध बनाने के लिए उठाया ठोस कदम!


Post Date : 30/03/2017

भारत में जल्द ही डोपिंग को अपराध की श्रेणी में रखा जा सकता है. केंद्रीय खेल मंत्रालय ने डोपिंग को एक अपराध बनाने के प्रस्ताव को मंजूरी दे दी है। पूरी दुनिया में भारत तीसरे स्थान पर है जहाँ के खिलाड़ी डोपिंग में सबसे ज्यादा दोषी पाए जाते है।विरोधी डोपिंग कानून की है आवश्यकता- देश में डोपिंग कानून आने के बाद यह एक अपराध की श्रेणी में आ जायेगा। इस में खिलाड़ियों के साथ-साथ प्रशिक्षकों, आपूर्तिकर्ताओं और दावा के निर्माता के लिए भी सजा का प्रावधान है। विश्व डोपिंग विरोधी एजेंसी (वाडा) के अनुसार भारत के खिलाड़ी सबसे ज्यादा डोपिंग के दोष पाए जाते हैं। इस मामले में भारत तीसरे स्थान पर है। राष्ट्रीय विरोधी डोपिंग एजेंसी (नाडा) के महानिदेशक, नवीन अग्रवाल के अनुसार संसद में विधेयक के पारित होने की पूरी प्रक्रिया में कम से कम छह महीने लग सकता है। उन्होंने बताया कि भविष्य में निषिद्ध पदार्थ के लिए सकारात्मक परीक्षण पर खिलाड़ी को जेल जा सकता है। इसके साथ ही उन्होंने सरकार के इस फैसले का स्वागत भी किया है.


© 2016 -2017 HindustanResult.com All Rights Reserved