जरूरत पड़ने पर माननीयों से भी हो सकती है पूछताछ-IG ATS असीम अरुण


Post Date : 15/07/2017

उत्तर प्रदेश की 17वीं विधानसभा के मानसून सत्र के दूसरे दिन की कार्यवाही से पहले सदन में नेता प्रतिपक्ष रामगोविंद चौधरी की टेबल के नीचे से विस्फोटक पदार्थ PETN मिला था. इस मामले पर आईजी लॉ एंड ऑर्डर हरिराम शर्मा ने कहा कि विधानभवन की सुरक्षा व्यवस्था को और अचूक करने के लिए सीसीटीवी की संख्या बढ़ाई जा रही है.<,br> साथ ही स्मार्ट कार्ड सिस्टम,पर्सनल एक्सेस कंट्रोल सिस्टम तथा सभी गेट्स पर वाच टावर लगाए जाएंगे. फिलहाल सीसीटीवी की फुटेज लेकर उनका परीक्षण किया जाएगा. उन्होंने कहा कि विवेचना एटीएस को ट्रांसफर हो गई है.
आधिकारिक रूप से बाद में बताया जा सकेगा कि सीट पर 12 तारीख को कौन बैठा था. वीडियो फूटेज से तमाम चीजें निकाली गईं हैं. हमे उसमे सपोर्ट भी मिल रहा है. जब जरूरत होगी तो जाँच भी होगी.आधिकारिक रूप से बाद में बताया जा सकेगा कि सीट पर 12 तारीख को कौन बैठा था. वीडियो फूटेज से तमाम चीजें निकाली गईं हैं. हमे उसमे सपोर्ट भी मिल रहा है. जब जरूरत होगी तो जाँच भी होगी.
आज एटीएस द्वारा सभापति महोदय से आज्ञा लेकर एक डिटेल्ड जाँच की जाएगी. PENT एक एक्प्लोसिव पदार्थ है इससे आईईडी बनता है. अकेले इसी से कोई घटना घटित नहीं हो सकती.
मामलें में आईजी एटीएस असीम अरुण का बयान- विधानसभा में विस्फोटक पदार्थ मिलने के मामले में IG ATS असीम अरुण ने कहा कि इस तरह के एक्प्लोसिव मिलने पर ये सम्भावना हो सकती है कि ये आतंकवादी घटना के लिए किया गया हो. उन्होंने कहा कि इसमें धाराएं भी अनलॉफुल एक्टिविटी के अंतर्गत लगाई गई हैं. IG ATS ने कहा कि आगे ये मामला एनआईए को जा सकता है जैसा की खुद सीएम ने कहा है. उन्होंन कहा कि जरूरत पड़ने पर माननीयों से भी पूछताछ हो सकती है.

बाराबंकी में मारपीट के बाद किशोरी से दरिंदगी!



राजधानी लखनऊ से सटे बाराबंकी (barabanki girl) जि.....Read More

अभ्यास मैच चयनकर्ताओं को प्रभावित करने का मौका- हार्दिक पांड्या



भारतीय ऑलराउंडर हार्दिक पांड्या ने क.....Read More


© 2016 -2017 HindustanResult.com All Rights Reserved