जंगल में फंदे से लटका मिला वृद्ध का शव, 3 जले शव मिले!


Post Date : 05/07/2017

राजधानी के गोमतीनगर थाना क्षेत्र में मंगलवार शाम तब हड़कंप मच गया, जब फन मॉल के पीछे जंगल में एक अधेड़ का शव फंदे से लटका (old man commits suicide) मिला। शव देखकर लोगों ने पुलिस को सूचना दी। मौके पर पहुंची पुलिस ने शव नीचे उतारा और छानबीन के बाद पोस्टमार्टम हाउस भेज दिया।
क्या है पूरा मामला गोमतीनगर इंस्पेक्टर सुजीत कुमार दुबे ने बताया कि मंगलवार शाम करीब साढ़े पांच बजे लोगों ने फन मॉल के पीछे जंगल में एक 40 वर्षीय अधेड़ का शव लटका होने की सूचना दी। मौके पर पहुंची पुलिस ने छानबीन शुरू की। शव पीपल के पेड़ से लाल रंग के गमछे के सहारे लटक रहा था। पुलिस ने शव नीचे उतार कर तलाशी ली तो उसकी जेब से एक पर्ची मिली, जिसमें लिखा था कि मै शिवकुमार जुगौली में रहता है और सुशीला मेरी पत्नी है। साथ ही उसके बायें हाथ पर भी पेन से शिवकुमार लिखा था। पुलिस को उसके पास से एक सेलफोन मिला, जिसमें मिले नंबरों पर संपर्क किया जा रहा है। अनुमान लगाया जा रहा है कि वह जुगौली में रहता होगा और किसी परेशानी के चलते खुदकुशी कर ली। लोगों ने हत्या की आशंका जताई है, जबकि पुलिस मामले को खुदकुशी मानकर पड़ताल कर रही है। उसने नीली धारीदार शर्ट और हरे-सफेद रंग का चेकदार हॉफ लोवर पहन रखा था। पुलिस मौत की असली वजह जानने के लिये पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने का इंतजार कर रही है।
तीन जले शवों के अवशेष बरामद प्रदेश में चित्रकूट जिले के कर्वी क्षेत्र में अंतरप्रांतीय डकैत ललित पटेल द्वारा तीन लोगों को जिन्दा जला दिये जाने का मामला प्रकाश में आया है। यह घटना मध्य प्रदेश और उत्तर प्रदेश की सीमा पर चित्रकूट के छोटे से हिस्से में की गई है। घटनास्थल जान बूझकर उत्तर प्रदेश और मध्य प्रदेश का बॉर्डर तय किया गया है ताकि दोनो राज्यों की पुलिस परेशान रहे और वह सकुशल बच जाए। तीन जले शवों के अवशेष बरामद प्रदेश में चित्रकूट जिले के कर्वी क्षेत्र में अंतरप्रांतीय डकैत ललित पटेल द्वारा तीन लोगों को जिन्दा जला दिये जाने का मामला प्रकाश में आया है। यह घटना मध्य प्रदेश और उत्तर प्रदेश की सीमा पर चित्रकूट के छोटे से हिस्से में की गई है। घटनास्थल जान बूझकर उत्तर प्रदेश और मध्य प्रदेश का बॉर्डर तय किया गया है ताकि दोनो राज्यों की पुलिस परेशान रहे और वह सकुशल बच जाए।
इस दौरान कोल्हुआ गांव के पास स्थित पहाड़ी की ऊॅचाई पर मध्य प्रदेश के सतना जिले की सीमा से 50 मीटर की दूरी पर एक स्थान पर राख पड़ी देखी गयी। नजदीक से जाकर देखने पर तीन जले हुये सिर मिले जिनकी शिनाख्त कर पाना संभव नहीं है। बरामद जले अवशेषों को कब्जे में लेकर पुलिस ने आसपास के क्षेत्र में छानबीन की गयी। इस दौरान घटनास्थल पर आये पप्पू यादव निवासी थर पहाड़ नयागांव सतना ने संभावना व्यक्त की कि प्राप्त मानव अवशेषों में से एक उसके भाई मुन्ना यादव (36) का हो सकता है। जिसे 30 जून को सुबह उसके घर से ललित पटेल के आदमी बुलाकर ले गये थे तभी से घर नहीं लौटा। इसकी सूचना थाना नयागांव सतना में दी गयी है। एक अन्य व्यक्ति नत्थू प्रसाद निवासी टेढ़ी थाना नयागांव सतना ने यह संभावना व्यक्त की है कि प्राप्त मानव अवशेषो में से एक उसके भाई रामदास (35) का हो सकता है। गायब रामदास रैदास की गुमशुदगी 03 जुलाई को नयागांव थाने में की गई थी। पुलिस ने बताया कि इसी तरह एक मानव अवशेष के संबंध में ग्रामीणों के अनुसार इन्द्रपाल यादव (30) निवासी पथरा नयागांव सतना का हो सकता है लेकिन घटनास्थल से ऐसे कोई भी प्रमाण नहीं मिले जिसके आधार पर उक्त अपहृत एवं गुमशुदा व्यक्तियों की शिनाख्त की जा सके।
घटना की सूचना के बाद चित्रकूटधाम मण्डल बांदा के मण्डलायुक्त एवं पुलिस उपमहानिरीक्षक तथा जिला मजिस्ट्रेट चित्रकूट द्वारा घटनास्थल का निरीक्षण किया गया। अधिकारियों को कहना है कि जिस तरह से डकैतों द्वारा उत्तर प्रदेश और मध्य प्रदेश की सीमाओं पर जघन्य अपराध किए जा रहे हैं वह चिंता का विषय है। पूरे इलाके में सन्नाटा पसरा है। पुलिस ने (old man commits suicide) घटनास्थल पर मिले अवशेषों को जांच के लिए भेज दिया है।


© 2016 -2017 HindustanResult.com All Rights Reserved