कानपुर सेंट्रल पर दिखी किसान यूनियन की गुंडई!


Post Date : 15/06/2017

लोकतंत्र में भीड़ को कुछ भी करने की लगता है पूरी छूट मिली हुई है. फिर चाहे वह दूसरों का अधिकार क्षेत्र हो या फिर अपनी गुंडई के दम पर लोगों के अधिकार का हनन करना हो. इन गुंडों के आगे पूरा सुरक्षा तंत्र से लेकर प्रशासन तक पंगु नज़र आता है. ताज़ा मामला कानपुर सेंट्रल स्टेशन का है जहाँ पर किसान यूनियन के लठैतों ने कानपुर से चलने वाली श्रमशक्ति ट्रेन पर कब्ज़ा कर लिया जिसके बाद पूरा रेल प्रशासन पंगु बना बेबस होकर देखता रहा.
रिज़र्वेशन टिकट लेकर यात्रा कर रहे यात्री डर के मारे ट्रेन उतर गए- मामला कानपुर सेंट्रल रेलवे स्टेशन का है. जहाँ कल रात ग्यारह बजे अचानक किसान यूनियन के लोग भारी संख्या में आगये. जिसके बाद ये लोग एक नम्बर प्लेटफार्म पर कानपुर से दिल्ली जाने वाली श्रमशक्ति ट्रेन में घुसने लगे. यही नही इन्होंने ट्रेन में रिजर्वेशन कराकर अपनी बर्थ पर बौठे यत्रियों को भी उठा दिया. जिसके बाद ये उनकी सीट पर ज़बरदस्ती कब्ज़ा कर बैठ गए. जब यात्रियों ने इसका विरोध किया तो रास्ते में मारपीट करने की धमकी देने लगे. इस दौरान इसकीं सूचना स्टेशन सुप्रिटेंडेन्ट को तक भी पहुँच गई. जिसके बाद स्टेशन सुप्रिटेंडेन्ट ने भी मौके पर पहुचे और किसान यूनियन के नेताओं को समझाने की कोशिश की. लेकिन किसान नेता ने स्टेशन सुप्रिटेंडेन्ट की भी एक नही मानी. देखते देखते किसानों की इस भीड़ ने पूरी ट्रेन पर कबज़ा कर लिया. इस दौरान रिज़र्वेशन वाले यात्री अपनी शिकायत स्टेशन मास्टर से करते रहे. लकिन स्टेशन मास्टर भी बेबस अधिकारी की तरह कुछ नही कर पा रहे थे. करीब 2 घंटे तक स्टेशन पर खड़ी ट्रेन को आखिर चलाना ही पड़ा. लेकिन ट्रेन चलते ही किसान यूनियन के लोगों ने चेन पुलिंग करके ट्रेन रोक दी
क्योंकि उनके सभी साथी ट्रेन में बैठ नही सके थे. किसान यूनियन के दबंगों ने चेन पुलिंग कर कर के अपने साथियों को बैठाते रहे. जिसके बाद थक हार कर रिज़र्वेशन टिकट लिए कई यात्री डर कर ट्रेन से उतर गए. इन यात्रियों की हालत ये थी की चाह कर भी ट्रेन में नही बैठ सकते थे. क्यों की बेबस रेल प्रशासन कोई मदद नही कर सकता था. आखिरकार इन यात्रियों को ट्रेन छोडनी पड़ गई.
किसान नेता बोले बिना टिकट यात्रा करते हैं हमलोग- इस दौरान किसान यूनियन के नेताओं से भी बात की गई. किसान यूनियन के नेताओं ने बताया कि वह लोग कल जंतर मंतर पर धरना देने जारहे है. यूनियन के नेताओं ने कहा कि ‘हम लोग ढाई हज़ार लोग दिल्ली जारहे हैं’ इस दौरान जब उनसे पूंछा गया कि क्या आप लोग बिना टिकट यात्रा कर रहे है. इस पर नेता जी बड़े शान से बोले कि हमलोग बिना ही टिकट यात्रा करते हैं. बता दें कि किसान नेताओं की गुंडई के चलते स्टेशन सुपरिटेंडेंट कुछ नही कर सके. हालाँकि उन्होंने समझा बुझा कर कुछ किसान यूनियन के लोगों को ट्रेन से ज़रूर उतार लिया. लेकिन इसके बावजूद एक हज़ार से अधिक किसान यूनियन के कार्यकर्ता बिना टिकट लिए रिज़र्वेशन डिब्बों में घुस कर चले गए.

जौनपुर बस हादसे में परिवहन विभाग ने की मुआवजे की घोषणा!



उत्तर प्रदेश के जौनपुर जिले में बुधवा.....Read More

बाराबंकी में मारपीट के बाद किशोरी से दरिंदगी!



राजधानी लखनऊ से सटे बाराबंकी (barabanki girl) जि.....Read More


© 2016 -2017 HindustanResult.com All Rights Reserved